April 22, 2024
gram sabha

ग्राम पंचायत का प्रधान कौन होता है – सरपंच कौन होता है 2024

गाँव कई लोगों के किसी एक निश्चित स्थान पर बसे रहने वाले घरों के समूह को कहा जाता है। ग्राम पंचयात ग्राम सभा का बड़ा रूप है यदि एक ग्राम सभा सरकार द्वारा निर्धारित जनसंख्या के अनुसार एक ग्राम पंचायत नहीं बना पाती है तो अन्य गाँव मिलकर एक ग्राम पंचायत का गठन करते हैं।कई लोगों के मन में यह सवाल आता है की आखिर ग्राम पंचायत का प्रधान कौन होता है ? इससे जुडी जानकारी आपको यहाँ पूर्ण रूप से प्राप्त हो जाएगी।

ग्राम पंचायत का प्रधान कौन होता है

किसी ग्राम पंचयात के बनने के लिए सरकार के द्वारा न्यूनतम जनसंख्या 2 हजार से 2 हजार 5 सौ, तक होनी चाहिए। ग्राम सभा या ग्राम पंचायत के प्रधान का निर्धारण, वहां के मूल निवासियों के द्वारा चुनाव करके ही किया जाता है। ग्राम प्रधान अपने ग्राम पंचायत का मुखिया होता है या फिर हम उसे गाँव का प्रथम नागरिक भी बोल सकते हैं।

प्रधान के मुख्य कार्य

  1. ग्राम पंचायत के प्रधान का मुख्य कार्य गाँव के लिए रोजगार लाना।
  2. गाँव में आयी परेशानियों का समाधान करना।
  3. गाँव के निवासियों के लेखा जोखा में उनका सहयोग करना।
  4. गाँव में पानी की व्यवस्था, साफ – सफाई को करवाना आदि कई प्रकार के कार्य को करवाना व गाँव की जिम्मेदारियों को संभालने का का कार्य ग्राम प्रधान का होता है।

प्रधान व सरपंच में क्या अंतर है

  • ग्राम प्रधान गाँव का मुखिया होता है। इसका मुख्य काम गाँव के सभी प्रमुख पंचायती जिम्मेदारियों को संभालना होता है।
  • सरपंच प्रधान के सहायक के रूप में ग्राम सभा – पंचायत में कार्य करता है।
  • सरपंच का चुनाव वार्ड मेंबरों के द्वारा किया जाता है।
  • कई स्थानों पर सरपंच को पंचायत अध्यक्ष, ग्राम प्रमुख, ग्राम प्रधान, ग्राम अध्यक्ष, आदि नामों से जाना जाता है।
ग्राम पंचयात
  • पंचायती राज्य व्यवस्था की सबसे छोटी इकाई ग्राम पंचायत होती है।
  • ग्राम पंचायत के सदस्यों का चुनाव ग्राम सभा के सदस्यों के द्वार होता है।
  • इन सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्षों का होता है।
  • राज शासन प्रणाली में सदस्यों की संख्या सामन्यतः 7 से 31 तक होती है।
  • पंचायती राज्य व्यवस्था में प्रधान के चुनाव कराने की जिम्मेदारी राज्य चुनाव आयोग की होती है।
  • ग्राम पंचायत की बैठक 1 साल में 4 बार बैठायी जाती है। कई राज्यों में यह अलग भी हो सकती है।
  • बैठक प्रधान के द्वारा बैठायी जाती है।

नोट:- यदि आप और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो, आप अपने प्रश्न हमें कमेंट के जरिए पूछ सकते हैं।

ग्राम कचहरी का प्रधान कौन होता है

ग्राम कचहरी का प्रधान, ग्राम प्रधान ही होता है जो, भारत के ग्रामीण परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण भूमिका रखता है। गाँव के प्राथमिक प्रतिनिधि के रूप में कार्य करते हुए, प्रधान स्थानीय शासन, सामुदायिक विकास और विवाद समाधान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

यह भी देखें –

आशा करते हैं आपको पता चल गया होगा की ग्राम पंचायत का प्रधान कौन होता है। आप यहाँ इसी प्रकार अन्य सरकारी पदों से सम्बंधित जानकारी जैसे उनका कार्य क्या होता है, सैलरी कितनी होती है सभी प्रकार की जानकारी यहाँ प्राप्त हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *