April 21, 2024

तहसीलदार कौन होता है – सैलरी, कैसे बनें 2024

जमीनी स्तर पर व्यवस्था, शासन और कुशल कामकाज बनाए रखने के लिए तहसीलदारों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सरकारी पदों के बीच कार्य करने वाला, तहसीलदार जिले के प्रशासन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, तथा यह राजस्व प्रशासन के सुचारू कामकाज को सुनिश्चित करता है, और सरकार व लोगों के बीच एक जोड़ के रूप में कार्य करता है। यहाँ हमने तहसीलदार कौन होता है के बारे में पूरी जानकारी दी है।

तहसीलदार क्या होता है

एक तहसीलदार एक सरकारी अधिकारी होता है, जिसे भारत में तहसील या उप-जिला स्तर पर विभिन्न प्रशासनिक और राजस्व-संबंधित कर्तव्य सौंपे जाते हैं। यह शब्द तहसीलदार फ़ारसी भाषा का है जिसका अर्थ राजस्व अधिकारी होता है। ऐतिहासिक रूप से, यह स्थिति मुगल काल की है जब राजस्व संग्रह शासन का एक महत्वपूर्ण पहलू था।

जिम्मेदारियाँ

एक तहसीलदार की जिम्मेदारियाँ विविध और बहुआयामी हैं, जिनमें राजस्व प्रशासन से लेकर सार्वजनिक शिकायत निवारण तक शामिल हैं। कुछ प्राथमिक कर्तव्यों में शामिल हैं,

#राजस्व संग्रह और प्रबंधन

  • तहसीलदार अपने अधिकार क्षेत्र के भीतर सरकार को भूमि राजस्व, संपत्ति कर और अन्य संग्रह की देख-रेख के लिए जिम्मेदार है।
  • वे राजस्व अभिलेखों का उचित मूल्यांकन, संग्रह और रखरखाव सुनिश्चित करते हैं।

 

#भूमि रिकॉर्ड रखरखाव

  • तहसीलदार की भूमिका का एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू भूमि रिकॉर्ड का रखरखाव है, जिसमें भूमि स्वामित्व, किरायेदारी विवरण और भूमि-उपयोग पैटर्न शामिल हैं।

 

#आपदा प्रबंधन

  • प्राकृतिक आपदाओं या आपात स्थिति के दौरान, तहसीलदार अपने संबंधित क्षेत्रों में राहत और पुनर्वास प्रयासों के समन्वय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • वे क्षति का आकलन करते हैं, राहत सामग्री वितरित करते हैं और प्रभावित समुदायों को सहायता प्रदान करते हैं।

 

#चुनाव कर्तव्य

  • तहसीलदारों को अक्सर चुनाव संबंधी कर्तव्य सौंपे जाते हैं, जैसे मतदाता पंजीकरण, मतदान केंद्र की व्यवस्था।
  • उनके अधिकार क्षेत्र के भीतर चुनावों का सुचारू संचालन सुनिश्चित करना।

 

#लोक शिकायत निवारण

  • भूमि विवाद, राजस्व मामलों और अन्य प्रशासनिक मुद्दों से संबंधित शिकायतों के समाधान के लिए तहसीलदार जनता के संपर्क बिंदु के रूप में कार्य करते हैं।
  • वे मध्यस्थता और कानूनी सहारा के माध्यम से विवादों के समाधान की सुविधा प्रदान करते हैं।

तहसीलदार की सैलरी व लाभ

  • एक तहसीलदार का वेतन रोजगार की स्थिति, सेवा के वर्षों और अतिरिक्त भत्ते जैसे आधार पर भिन्न होता है।
  • भारत में एक तहसीलदार का प्रारंभिक वेतन 50,000 रुपए  से 70,000 रुपए प्रति माह होता है।
  • मूल वेतन के अलावा, तहसीलदार को चिकित्सा सुविधाएं, आवास भत्ता और पेंशन योजनाओं सहित विभिन्न लाभ दिए जाते हैं।
तहसीलदार कैसे बनें
  • भारत में तहसीलदार बनने के लिए, सामान्यतः किसी को संबंधित राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है।
  • पात्रता मानदंड अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन आम तौर पर, एक उम्मीदवार को यह करना होगा।
  1. किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (डिग्री) प्राप्त होनी आवश्यक है।
  2. राज्य सरकार द्वारा निर्दिष्ट आयु को पूरा करें।
  3. राज्य सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी, जिसमें प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार चरण शामिल होते हैं।
  4. तहसीलदार के रूप में कार्यभार संभालने से पहले संबंधित राज्य प्रशासनिक अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्त करनी होती है।

इसे भी पढ़ें – SDM कौन होता है?

आशा करते हैं आपको यहाँ दी गयी तहसीलदार कौन होता है से सम्बंधित जानकारी लाभदायक रही होइ आप यहाँ इसी ही प्रकार से और भी अधिक जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं, इसी के साथ ही आप यहाँ आने वाली सरकारी नौकरियों की सूचना, उनकी योग्यता जैसी जरूरी बातों को भी देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *